Click to Download this video!
Click to this video!

बुआ की लड़की के साथ ट्रेन से होटल तक का सफ़र


हैल्लो दोस्तों मैं राजू रंगीला हूँ और मेरी उम्र 24 साल की है और मैं भोपाल का रहने वाला हूँ | मैं अभी अपना ग्रेजुएशन कम्पलीट कर चुका हूँ और एस,एस,सी एग्जाम की तैयारी कर रहा हूँ | मेरे फ़ादर गवर्नमेंट एम्प्लोयर हैं और मम्मी हाउसवाइफ हैं | मेरे एक बड़े भैया हैं जो ऑस्टेलिया में जॉब करते हैं | मैं यहाँ अकेले ही घर का काम देखता हूँ और पढाई भी करता हूँ | आज जो मैं आपको अपनी कहानी बताने जा रहा हूँ वो मेरे और मेरी बुआ की बेटी की बीच हुई चुदाई की कहानी है | ये एक दम सच्ची घटना है जो मैं आप लोगों के सामने पेश कर रहा हूँ | मैं अब स्टोरी में आता हूँ |

ये बात पिछले साल अक्टूबर की है जब मेरी बुआ की बेटी का 12वी का एग्जाम हो चुका था और वो भी एस.एस.सी की तैयारी कर रही थी और ग्रेजुएशन भी चल रहा था | मेरी बुआ की बेटी और मैं बचपन से ही फ्रैंक थे और पिछले साल तक थे | अब क्यूँ नहीं है ये आप लोगों को कहानी में पता चल जायगा | हम दोनों साथ में ही एस.एस.सी की तैयरी कर रहे थे उसकी इंग्लिश थोड़ी वीक है और मेरी अच्छी है क्यूंकि वो हिंदी माध्यम से थी और मैं अंग्रेजी माध्यम से था | मैं उसकी हमेशा इंग्लिश में हेल्प करता था | हम दोनों के घर ज्यादा दूर नहीं थे तो हम दोनों साथ में पढाई कर लिया करते थे | उसने मुझे अपनी एक दोस्त पटवाई थी पर एक साल रिलेशन के बाद उसने ब्रेकअप कर लिया था और किसी को वजह भी नहीं बता रही थी | मैंने भी सोचा जाने दो जब सरकारी नौकरी लगेगी तो अपने आप खुद भाग कर आयगी |

पिछले साल एस.एस.सी का फॉर्म निकला था और हम दोनों ने साथ में भरा था फिर हम दोनों साथ में रुकते रात में और खूब मेहनत करते | फिर जब एडमिट कार्ड आया तो वो परेशान हो गई थी मेरा सेंटर यहीं लोकल ही था पर उसका सेंटर नजफगढ़ में था जो की दिल्ली की बॉर्डर पर पड़ता है | तो मैंने उससे पूछा की क्या परेशानी है चले जाना पेपर देने किसी के भी साथ | फिर वो थोडा नार्मल हुई फिर हम दोनों अपने अपने घर चले गए रात मे मैंने उसे फोन किया और पूछा क्या कर रही हो ? तो उसने कहा कि पढाई कर रही हूँ पर मैं एग्जाम नहीं दे पाऊँगी तो मैंने पूछा कि क्यूँ क्या दिक्कत है ? तब उसने बताया की पापा को ऑफिस से छुट्टी नहीं मिलेगी और मम्मी को घर काम देखना होता है तो वो मेरे साथ नहीं चल पायंगी और मुझे अकेले कोई जाने नहीं देगा उतनी दूर | तो मैंने कहा की तू अपनी पढाई कर में सोचता हूँ की तुझे कैसे पेपर दिलवाऊ उसने कहा ओके | फिर हम दोनों ने 20 मिनट बात की और फिर अपनी पानी पढाई में लग गए | अगले दिन मैं शाम को 6 बजे बुआ के घर गया फूफा भी वहीँ थे | तो मैंने उनसे कहा की आप लोग इसको एग्जाम देने क्यूँ नहीं दे रहे हैं ? तो बुआ ने कहा की तेरे फूफा को छुट्टी नहीं मिल रही है और मैं चले जाउंगी तो घर का काम कैसे चलेगा ? तो मैंने कहा कि बुआ इसको तो आप जाने दे सकते हो ना | तो उन्होंने बताया की ये अकेले कैसे जायगी ये तो भोपाल से बाहर तक निकली नहीं है |

मैंने भी मन में सोचा की बुआ तो सही बात बोल रही हैं | फिर मैंने उन्हें बताया की मेरा पेपर इससे दो दिन पेहले है और इसका दो दिन बाद में है तो मैं इसके साथ चला जाता हूँ | तो फिर वो बुआ और फूफा दोनों राजी हो गए थे | आकांशा भी बहुत खुश हो गई थी मुझे गले लगा कर थैंक यू बोली और आई लव यू भाई | मैंने भी कहा अबे पागल है क्या ? भाई को थैंक यू बोलेगी बुआ पिटेगी ये एक दिन मुझसे | फिर हम सब ठहाके लगा कर हँसे लगे | उसके बाद आकांशा ने हम सब को चाय बना के पिलाई | फिर मैं चाय पी के अपने घर आ गया था अपने घर में सबको पूरी बाते बताई तो घर वाले बहुत प्राउड फील कर रहे थे की मेरा बेटा बड़ा हो गया है | ऐसे ही वो शाम निकल गई और फिर रात में आकांशा ने मुझे 11 बजे फोन किया | मैंने फोन उठाया और कहा की इतनी रात में क्यूँ कॉल की ? कुछ अर्जेंट है क्या ? तो उसने मुझे थैंक्स कहा तो मैंने कहा अबे एसा कुछ नहीं है मैं तेरी हेल्प नहीं करूंगा तो किस बात का भाई हुआ मैं तेरा | फिर ऐसे ही बात करने के बाद हम सो गए |

मेरा एग्जाम सन्डे को था तो मैं एग्जाम देने सुबह गया और तो आकांशा ने मुझे कॉल करके आल द बेस्ट कहा मैंने भी थैंक यू बोला | फिर मैं एग्जाम देने गया और फोन बंद करके डेस्क में रख दिया | एग्जाम ओवर होने के बाद मैंने आकांशा को फ़ोन किया और ये बोला की मेरा एग्जाम अच्छा गया है अब देखो रिजल्ट में क्या होता है ? फिर मैं और आकांशा शाम को रिजर्वेशन कराने गए और किस्मत से रिजर्वेशन भी मिल आगे फिर वो दिन आ गया जब हमे दिल्ली के लिए निकलना था हमारी ट्रेन शाम की थी | शाम को हम अपनी अपनी सीट में बैठ गए फिर मैं दरवाजे के पास जा कर खड़ा रहा तो मुझे मेरा एक दोस्त दिख गया जो की टी.टी बन गया था | उसने हमे इसी डब्बे में जगह दिलवा दी थी | अब रात का वक़्त हो चला था हम दोनों सोने की तैयारी करने लगे थे हम दोनों की ही ऊपर की सीट थी फिर हमने लाइट बुझाई और सोने लगे | रात में मेरी नींद खुली 1 बजे मैंने देखा की आकांशा के मोबाइल की बत्ती चालू है फिर मैंने अपनी आँखे मीन्जते हुए देखा की वो अपने दूध दबा रही थी | मैं हैरान हो गया था | मैं ऊपर से उसके पास गया और वो चौंक गई |

उसने पूछा की तू यहाँ क्यूँ आ गया ? तो मैंने बोला की जो तू हरकते कर रही थी वो देखा कर मेरा लंड खड़ा हो गया था अब सुन देख मुझे चोदने दे दे नहीं तो मैं तुझे दिल्ली में ही छोड़ दूंगा | तो वो बोली की अबे ढक्कन चोदना है ऐसा बोलना मैं कोनसा तुझे मना कर रही हूँ | फिर मैं उसके बाजु में लेट कर किस करने लगा वो भी मेरा साथ दे रही थी | उस समय हम बस किस कर पाए थे क्यूंकि यात्री उतरने लगे थे | फिर हम होटल के लिए पहाड़गंज पहुंचे और होटल में रूम ले लिए कोई वैसे भी शक नहीं कर सकता था इसलिए आसानी से रूम मिल गया | फिर हम रूम पहुंचे सामान रखा और सोचा की चलो नहा लेते हैं | फिर हम दोनों ने साथ में नहाने का फैसला लिया फिर हम दोनों नंगे हो कर एक दुसरे के बदन पे साबुन लगा रहे थे और एक दुसरे से चिपक चिपक कर नहा रहे थे | वो मेरे लंड को अच्छे तरह से साफ कर रही थी और साथ ही आगे पीछे भी कर रही थी और मैं उसकी चूत पर अच्छे से साबुन लगा कर साफ किया | फिर हम दोनों बाहर निकले और नंगे ही बदन चिपक कर एक दुसरे को किस करने लगे |

फिर उसके बाद मैं उसके दूध को बड़े प्यार से दबा रहा था उसके दूध ज्यादा बड़े नहीं थे इसलिए वो आराम से मेरे हाथ में समां गए थे वो आआआअह्ह आआआअह्ह्ह आआआअह्ह्ह आआआह हाहहहः आआआआहाह करते हुए सिस्कारिया भर रही थी | फिर उसके मैं दूध पीना चालू कर दिया तो वो अआः अहहहहः अहहहः आआह्हाआ करते हुए अपने दूध चुसवा रही थी | फिर उसके बाद उसने मेरा लंड पकड के किस करने लगी मुझे बहुत मजा आ रहा था | फिर वो मेरा लंड चूसने लगी और मैं सिस्कारिया भर के अपना लंड चुसवा रहा था 10 मिनट तक उसने मेरा लंड चूसा फिर मैंने उसे बैठा कर उसकी चूत में अपना लंड टिका कर जोरदार धक्का मारा वो इतने जोश में थी की उसे दर्द का एहसास ही नहीं हुआ | फिर उसके बाद मैं उसको धक्के मार मार के चोद रहा था और वो आआअहहाआ आआआहाअ आहाहहहा आअह्हहहाअ आआआह अआहहा अआः आहा करते हुए चुदवा रही थी | 15 मिनट की चुदाई के बाद मैंने उसके दूध पर अपना वीर्य निकाल दिया और फिर हम दोनों लेट गए बिस्तर पर थक कर उस दिन बस हम तीन बार चुदाई कर पाए थे | फिर अगले दिन उसका पेपर था पेपर के बाद हम होटल आ गए और फिर एक बार चुदाई कर पाए थे क्यूंकि हमारी ट्रेन भी थी | एक दिन मैंने उसे चोदते हुए वीडियो बना लिया था जिस वजह से अब वो मुझसे नफरत करने लगी है |

दोस्तों ये थी मेरी कहानी मैं उम्मीद करता हूँ आप लोगो को पसंद आई होगी मेरी कहानी | कमेंट में अपनी राय जरुर दीजियेगा |


error:

Online porn video at mobile phone


bhabhi ko choda new storyvery hot story in hindisexy strorynew romantic pornmote land se chudaimaa ke chodaall chudai ki kahanichudai raatbahan ki saheli ki chudaisir ki biwi ki chudaimuth marne se kya hota haiwww hindi sex girldesi hindi chutchachi ko choda hindi storygoa me chodasex story real in hindisexy story aaprekha chachi ki chudaisexy kahani mamimaa ko choda new storygirl sex story hindisex ki storymaa ki nangi chutmaa beta ki sexbagal ki aunty ko chodasavita bhabhi chudai storybaap ne beti ko choda hindi storyhindi erotic comicshindi porn kahanigand chodne ka mazasagi khala ko chodadesi chut chudaisex story hindi websitefree hindi sex story booksreal chachi ki chudaiantarvasana cobhabhi aur devar ka pyarsambhog storychut marne ki kalamom son chudai kahaniindian hot saxnew hot kahanikunwari chut imagexnxx com desi sexchoot bfantarvasna desi chudailondiya ki chudaikamvasna kahani14 sal ki ladki chudaichut me landindian funny sex storiessexy urdu chudai kahanichachi ki ladki ki chudaihindi sexy khanichudai hindi sexsexy kahani for hindididi ki braall hindi sexybahan ki chut imagehindi sex kahaniya downloadmaa beta ki chudai ki kahanivabi ko chodamami ki kahaniaunty ki chudai urdu sex storysavita bhabhi sixsexy story in hindi sisterantarvasna bhai behanwife ki chudai in hindimast indian sexladki ki chut phadibehan ki chut marisasur aur bahu ki chodaisaxy kahani hindedesi sexi bhabisexy wife story in hindimummy ki chudai antarvasnaindian suhagraat mmshindi muslim sexhindi sexsi movichut chudai ki hindi storygangbang kahanibhabhi ki choot comwww antravasna comchut beti kikuwari chut mari